संसद में मर्यादाएं किसने लांघी? वीडियो राहुल के दावे से अलग कहानी दिखा रहा

नई दिल्लीः कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने जब राज्यसभा में विपक्षी सांसदों पर मार्शलों के हमले का गंभीर आरोप लगाया तो सरकार ने सदन की सीसीटीवी फुटेज जारी कर दी। इस वीडियो में राहुल गांधी के दावे के उलट सिर्फ कांग्रेस के सांसद महिला मार्शलों के साथ बदसलूकी करते नजर आ रहे हैं। वीडियो में साफ दिख रहा है कि कांग्रेस के सांसद बार-बार मार्शलों पर दबाव बना रहे हैं। महिला सांसदों को यहां तक ​​कि महिला मार्शलों का कॉलर पकड़े भी देखा जा सकता है।

गौरतलब है कि राहुल गांधी, शरद पवार और संजय राउत समेत विपक्षी दलों के कई राज्यसभा सांसदों ने बुधवार को सरकार पर मार्शलों के जरिए हमले करने का आरोप लगाया था। पवार ने कहा कि उन्होंने अपने संसदीय कार्यकाल में ऐसी स्थिति कभी नहीं देखी, जिस पर राउत ने कहा कि सरकार ने राज्यसभा पर मार्शल लॉ लगा दिया है। एनसीपी के प्रमुख शरद पवार समेत सभी विपक्षी नेताओं ने आरोप लगाया है कि सरकार ने विपक्षी सांसदों पर हमला करने और लोकतंत्र का गला घोंटने के लिए सदन में दर्जनों मार्शलों को बुलाया।

हालांकि, सरकार के सात मंत्रियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर विपक्ष के आरोपों का जवाब दिया। व्यापार और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि विपक्षी सांसदों की हाथापाई में महिला मार्शल घायल हो गई। वहीं संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने विपक्ष पर सरकार को धमकी देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि विपक्ष ने धमकी दी कि अगर उन्होंने विधेयक को पारित कराने की कोशिश की तो वे नौ अगस्त को हुए दंगे से भी ज्यादा अराजक स्थिति पैदा कर देंगे। 9 अगस्त को राज्यसभा में, कांग्रेस के एक डिप्टी ने टेबल पर चढ़कर नियम पुस्तिका को नीचे फेंक दिया। वहीं, बाकी सदस्यों ने नारेबाजी की और हंगामा किया। आप सांसद संजय सिंह ने जमीन पर बैठकर नारेबाजी की।

हालांकि, राहुल गांधी ने जंतर-मंतर पर विपक्ष के धरने के दौरान कहा कि बुधवार को राज्यसभा में विपक्षी सांसदों पर हमला किया गया। उन्होंने कहा, ‘‘कल, हमारे देश के इतिहास में पहली बार, राज्यसभा के सदस्यों ने दुर्व्यवहार किया और मारपीट की।’’ यह लोकतंत्र की हत्या है। न्यूज चैनल टाइम्स नाउ से बात करते हुए, कांग्रेस महिला छाया वर्मा ने यह भी दावा किया कि पुरुष मार्शलों ने महिला मार्शलों को आगे बढ़ाकर हमें पीछे धकेलने की कोशिश की। उन्होंने कहा ‘‘हमने कुछ नहीं किया।’’

हालाँकि, जब टाइम्स नाउ के एक रिपोर्टर द्वारा सवाल किया गया, तो वर्मा ने उनकी बात का जवाब देते हुए कहा कि कुछ महिला सांसदों को मार्शलों द्वारा धक्का दिया गया था। वहीं कांग्रेसी कुमार केतकर ने राहुल गांधी का बचाव करते हुए कहा कि उनके पास जरूर कुछ सबूत होंगे। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी कभी झूठ नहीं बोलते हैं।

(एजेंसी इनपुट के साथ)